Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) Book PDF Notes in Hindi Free Download

Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) Book PDF Notes in Hindi Free Download– अगर आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तयारी करने के लिए hindi vyakaran pdf notes तलाश कर रहे हैं, तो आप एकदम सही स्थान पर हो. क्यूंकि, आज हम आप सभी के लिए Hindi Vyakaran Book PDF लेकर आये हैं ये notes एकदिवसीय परीक्षा की तयारी करने के लिए बहुत ही उपयोगी हैं. अगर आप प्रतियोगी  परीक्षा की तयारी कर रहे हैं तो आप Hindi Grammar PDF Notes को नीचे दिए हुए बटन पर क्लिक करके आसान रूप से Download कर सकते हो.

Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) Book PDF Notes

Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) Book PDF Notes

इस Hindi Grammar Book में आपको वर्ण, स्वर, व्यंजन, संज्ञा, वचन, कारक, सर्वनाम, विशेषण, क्रिया, काल, वाच्य, वाक्य,उपसर्ग, प्रत्यय, संधि, समास, अलंकार, शब्द, शब्द भेद, रचना के आधार पर, अर्थ के आधार पर, उत्तपत्ति के आधार पर, तत्सम एवं तद्भव, देशज शब्द, विदेशज शब्द, रुपान्तर के आधार पर, शब्दो मे अर्थ का बोध कराने वाली शक्तियॉ, हिन्दी वर्णमाला, भाषा ,लिपि और व्याकरण, संज्ञा, सर्वनाम, वच, लिंग, क्रिया, विशेषण, कारक, काल, समास, अलंकार, पर्यायवाची, क्रियाविशेषण, विलोम शब्द, समुच्चयबोधक, सम्बन्धबोधक, विस्मयादिबोधक अव्यय,अनेक शब्दों के एक शब्द, प्रत्यय, हिंदी संख्या, मुहावरे, संधि, उपसर्ग, पत्र लेखन, निबंध लेखन, समरूप भिन्नार्थक शब्द, अव्यय, भाववाचक संज्ञा, तत्सम और तद्भव शब्द, रस, छंद, खड़ी बोली हिंदी का उद्भव व विकास अभ्यास प्रश्न आदि के बारे में उदाहरण सहित जानकारी पढ़ने को मिलेगी जो एक दिवसीय प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहुत उपयोगी और महत्वपूर्ण हैं.

व्याकरण (Grammar) की परिभाषा

व्याकरण- व्याकरण वह विद्या है जिसके द्वारा हमे किसी भाषा का शुद्ध बोलना, लिखना एवं समझना आता है। भाषा की संरचना के ये नियम सीमित होते हैं और भाषा की अभिव्यक्तियाँ असीमित। एक-एक नियम असंख्य अभिव्यक्तियों को नियंत्रित करता है। भाषा के इन नियमों को एक साथ जिस शास्त्र के अंतर्गत अध्ययन किया जाता है उस शास्त्र को व्याकरण कहते हैं।

वस्तुतः व्याकरण भाषा के नियमों का संकलन और विश्लेषण करता है और इन नियमों को स्थिर करता है। व्याकरण के ये नियम भाषा को मानक एवं परिनिष्ठित बनते हैं। व्याकरण स्वयं भाषा के नियम नहीं बनाता। एक भाषाभाषी समाज के लोग भाषा के जिस रूप का प्रयोग करते हैं, उसी को आधार मानकर वैयाकरण व्याकरणिक नियमों को निर्धारित करता है। अतः यह कहा जा सकता है कि- व्याकरण वह शास्त्र है, जिसके द्वारा भाषा का शुद्ध मानक रूप निर्धारित किया जाता है।

व्याकरण के अंग :

व्याकरण हमें भाषा के बारे में जो ज्ञान कराता है उसके तीन अंग हैं- ध्वनि, शब्द और वाक्य।
Hindi Vyakaran में इन तीनों का अध्ययन निम्नलिखित शीर्षकों के अंतर्गत किया जाता है-

(1) ध्वनि-विचार (2) पद-विचार (3) वाक्य-विचार

व्याकरण के प्रकार

(1) वर्ण या अक्षर 
(2) शब्द 
(3)वाक्य

(1) वर्ण या अक्षर:- भाषा की उस छोटी ध्वनि (इकाई )को वर्ण कहते है जिसके टुकड़े नही किये सकते है।
जैसे -अ, ब, म, क, ल, प आदि।

(2) शब्द:- वर्णो के उस मेल को शब्द कहते है जिसका कुछ अर्थ होता है।
जैसे- कमल, राकेश, भोजन, पानी, कानपूर आदि।

(3) वाक्य:- अनेक शब्दों को मिलाकर वाक्य बनता है। ये शब्द मिलकर किसी अर्थ का ज्ञान कराते है।
जैसे- सब घूमने जाते है।
राजू सिनेमा देखता है।

संधि एवं संधि विच्छेद परिभाषा

संधि दो शब्दों से मिलकर बना है – सम् + धि। जिसका अर्थ होता है ‘मिलना ‘। हमारी हिंदी भाषा में संधि के द्वारा पुरे शब्दों को लिखने की परम्परा नहीं है। लेकिन संस्कृत में संधि के बिना कोई काम नहीं चलता। संस्कृत की व्याकरण की परम्परा बहुत पुरानी है। संस्कृत भाषा को अच्छी तरह जानने के लिए व्याकरण को पढना जरूरी है। शब्द रचना में भी संधियाँ काम करती हैं।

जब दो शब्द मिलते हैं तो पहले शब्द की अंतिम ध्वनि और दूसरे शब्द की पहली ध्वनि आपस में मिलकर जो परिवर्तन लाती हैं उसे संधि कहते हैं। अथार्त संधि किये गये शब्दों को अलग-अलग करके पहले की तरह करना ही संधि विच्छेद कहलाता है। अथार्त जब दो शब्द आपस में मिलकर कोई तीसरा शब्द बनती हैं तब जो परिवर्तन होता है , उसे संधि कहते हैं।

उदहारण :- हिमालय = हिम + आलय , सत् + आनंद =सदानंद।

संधि के प्रकार (Sandhi Ke Prakar) :

संधि तीन प्रकार की होती हैं :-

  1. स्वर संधि
  2. व्यंजन संधि
  3. विसर्ग संधि

Hindi Grammar Book Topic List

नीचे हमने उपलब्ध Hindi Grammar PDF Notes मे जो भी कुछ हिन्दी व्याकरण से सम्बन्धित उपलब्ध है, उसे नीचे टापिक के माध्यम से आपके लिए लिख दिया है, जिसमे अपनी जरुरत के हिसाब से उपलब्ध टापिक को पढ सकते है।
  • संज्ञा – Sangya in Hindi Vyakaran
  • सर्वनाम – Sarvnam in Hindi Vyakaran
  • विशेषण – Visheshan in Hindi Vyakaran
  • क्रिया – Kriya in Hindi Vyakaran
  • क्रियाविशेषण – Kriya Visheshan in Hindi Vyakaran
  • वाच्य – Vachya in Hindi Vyakaran
  • अव्यय – Avyay in Hindi Vyakaran
  • लिंग – Ling in Hindi Vyakaran
  • वचन – Vachan in Hindi Vyakaran
  • कारक – Kaarak in Hindi Vyakaran
  • काल – Kaal in Hindi Vyakaran
  • उपसर्ग – Upsarg in Hindi Vyakaran
  • प्रत्यय – Pratyay in Hindi Vyakaran
  • समास – Samaas in Hindi Vyakaran
  • संधि – Sandhi in Hindi Vyakaran
  • पुनरुक्ति – Punrukti in Hindi Vyakaran
  • शब्द विचार – Shabd Vichar in Hindi Vyakaran
  • पर्यायवाची शब्द – Paryayvachi Shabd Hindi Vyakaran
  • विपरीतार्थक शब्द – Vilom Shabd in Hindi Vyakaran
  • अनेक शब्दों के लिए एक शब्द – Anek Shabdon Ke Liye Ek Shabd
  • हिंदी कहावतें – (Hindi Kahawat)
  • हिंदी मुहावरे – Hindi Muhavare
  • अलंकार – Alangkar in Hindi Vyakaran
  • छंद – Chhand in Hindi Vyakaran
  • रस – Ras in Hindi Vyakaran

About Hindi Grammar Book Details

यहां हमने Hindi Grammar Notes के बारे में कुछ इंपोर्टेंट डिटेल ऐड कर दी है जो आप सभी के लिए बहुत ही उपयोगी होगी जैसे कि इस बुक में कितने पेजेस हैं और आप इस बुक को कितने MB में डाउनलोड कर सकते हैं. इसके साथ ही हमने इस बुक को डाउनलोड करने की डायरेक्ट लिंक उपलब्ध करा दीजिए जिस पर क्लिक करके आप आसानी से इस बुक को अपने फोन में सेव कर सकते हैं यह बुक प्रत्येक परीक्षाओं के लिए उपयोगी है.

Book Name: Hindi Grammar (हिंदी व्याकरण)
Quality:Excellent
Format:PDF
Size:7 MB
Author:Harish Acedmy
Pages:47 Page
Language:Hindi हिन्दी

 

Download Hindi Grammar Book PDF Notes

दोस्तों आप सभी नीचे दिए हुए download बटन से hindi grammar PDF notes अपने मोबाइल या कंप्यूटर में download कर सकते हो.

Disclaimer : gyanbox.in do not host this file. We are inserting the link from other websites. If you found any copyright violations please Contact USWe will remove the link. It will Be good for you if you Buy Hardcopy of this book. You can use this book for reference purpose.


Important PDF Notes for You


Last Word : आज का ये आर्टिकल hindi grammar PDF notes काफी महत्वपूर्ण है. आशा करते हैं, आपको ये पसंद आएगा और ये आपकी सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं में मददगार साबित होगा. इस post को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे.

Notes : हमारे लेटेस्ट पोस्ट अपडेट फेसबुक पर प्राप्त करने के लिए Gyanbox Facebook Page को अभी Like करे. साथ ही हमारे Telegram Channel सब्सक्राइब करे.

Add Comment